उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था

$11.99

ISBN‏ : ‎ 978-93-86240-56-9

Publisher ‏ : ‎ Gutenberg Books Pvt. Ltd. (2 October 2019)

Language ‏ : ‎ Hindi

File size ‏ : ‎ 101511 KB

Kindle ‏ : ‎ Click Here to Get

 

प्रदेष की अर्थव्यवस्था पर विधानसभाओं में बहस केवल औपचारिकता प्रतीत होती है और बजट सत्र के दौरान मीडिया को परंपरा के तौर पर हैंडआउट बाँट दिए जाते हैं। मुख्यमंत्रियों की लोकलुभावन योजनाओं की घोषणा पर ही फोकस किया जाता है। इनमें से अधिकांश मुफ्त सामग्री, सहायता और बख्शीश होती हैं। ऐसी स्थिति उत्पन्न हो गई है कि मुख्यमंत्री गण इस प्रकार की घोषणाएँ करने और इन्हें चुनाव पूर्व घोषणापत्रों में महत्वपूर्ण मुद्दा बनाने के लिए एक दूसरे से प्रतिस्पर्धा करते हैं। हालांकि, कम अनुभवी और कानून का पालन करने वाले मुख्यमंत्री उन्हें पूरा करने में असफल रहते हैं, जबकि अन्य वित्तीय मामलों के नियमों का घोर उल्लंघन करने और उन योजनाओं को कार्यान्वित करने की हिम्मत दिखाते हैं। इतिहास इस बात का गवाह है कि मुफ्त टेलीविज़न, बिजली, पानी के बिलों में छूट, बिना शर्त नकदी हस्तांतरण, लैपटॉप तथा अन्य वस्तुओं का वितरण के साथ ही ऋणो को माफ करना आदि चुनाव पूर्व घोषणाओं का हिस्सा बनते जा रहे हैं। वित्तीय संसाधन जुटाने वाले लोग और वे व्यक्ति जो वित्तीय मामलों के ढांचे को समझते हैं, वे इस प्रकार की घोषणाओं को समायोजित करने के लिए मजबूर हो जाते हैं ।
चूंकि यह पुस्तक अपनी तरह का पहला संस्करण है, हम पाठकों से उन तथ्यों और आंकड़ों के बारे में फीडबैक प्राप्त करने की आशा करते हैं जिन्हें हम आगामी संस्करणों में शामिल कर सकें।

SKU: 86240569
Categories:,
Weight 350 g
Dimensions 25 × 3.5 × 17 cm
Book Author

,

Book Format

Customer Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था”

Your email address will not be published.